UGC NET Exam की तैयारी कैसे करें ?

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद अक्सर ये दिमाग में आता है कि UGC NET Exam की तैयारी कैसे करें ? UGC NET का एग्जाम ऑनलाइन माध्यम से होता है। किसी भी विश्वविद्यालय में शिक्षक बनने के लिए UGC NET Exam पास होना अनिवार्य है। UGC (यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन) का अर्थ विश्वविद्यालय अनुदान आयोग है। इसकी स्थापना भारत सरकार के मानव संसाधन विभाग द्वारा सन 1956 में की गई थी। इस संस्था का मुख्यालय नई दिल्ली में है।

यह परीक्षा पहले CBSE नामक संस्था द्वारा आयोजित की जाती थी। लेकिन अब इसके लिए एक अलग संस्था का निर्माण किया गया है जो NTA (National Testing Agency) के नाम से जानी जाती है। यह परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित की जाती है। इस परीक्षा के आवेदन के लिए स्नातकोत्तर में 55 % अंक अनिवार्य है।

 

UGC NET Exam ki taiyari kaise kare

UGC NET Exam की तैयारी कैसे करें ? कुछ जरूरी टिप्स।

नीचे दिए गए बिंदुओं के अनुसार UGC NET Exam की तैयारी अच्छे से की जा सकती है तथा एग्जाम में अच्छे मार्क्स प्राप्त किए जा सकते हैं।

समय से तैयारी प्रारंभ करे।

UGC NET Exam के लिए न्यूनतम 6 महीने पहले से तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। बहुत से विद्यार्थी फॉर्म भरने के बाद अपनी पढ़ाई शुरू करते है जो बिल्कुल गलत है। इस परीक्षा के लिए समय से पढ़ना बहुत जरूरी है क्यों की इसका पाठ्यक्रम बहुत बड़ा होता है। लगभग सभी विषयों में 10 Unit बने हुए है। जिनको पढ़ने के लिए अलग अलग पुस्तकों की आवश्यकता पड़ती है।

पाठ्यक्रम के हिसाब से पढ़ें ।

UGC NET की परीक्षा में पाठ्यक्रम को समझना अति आवश्यक है। क्योंकि इसके बिना तैयारी अधूरी रह जाएगी। इसका पाठ्यक्रम बहुत बड़ा है। लगभग सभी विषयों में 10 Unit बने हुए है। जिनको पढ़ने के लिए अलग अलग पुस्तकों की आवश्यकता पड़ती है। पाठ्यक्रम को समझने के बाद जरूरी है कि सभी यूनिट को बराबर समय दे। क्यों की सभी यूनिट से सामान प्रश्न आते हैं।

विषय का पूर्ण अध्ययन करें

UGC NET Exam में 2 प्रश्नपत्र होते है। दूसरा प्रश्नपत्र स्वैक्षिक होता है। जो हम स्नातकोत्तर में पढ़े होते है। इस प्रश्नपत्र में अच्छे अंक पाने के लिए आवश्यक है कि अपने विषय का पूर्ण ज्ञान हो। जो अच्छे से पढ़ कर समझा हुआ हो। पहले प्रश्न पत्र में सामान्य जागरूकता और योग्यता पर आधारित 50 प्रश्न होते है। इस पेपर में अंक लाना इस बात पर निर्भर करते है कि आपकी 10 वी तक की पढ़ाई कैसे हुई है। जिन विद्यार्थियों का मैथ और रीजनिंग पर पकड़ अच्छी है वे इस पेपर में अच्छा अंक प्राप्त करने में सफल होते है।

अपने नोट्स खुद बनायें ।

अपने अध्ययन के साथ साथ उससे संबंधित खुद के संक्षिप्त नोट्स भी जरूर बनाए। अक्सर ऐसा होता है कि हम दूसरों को अधिक काबिल समझते हैं तथा उनके नोट्स पर निर्भर हो जाते हैं। पढ़ते वक्त सबकी अपनी अपनी जरूरतें होती हैं सब अपने जरूरतों के हिसाब से नोट्स बनाते है। किसी एक का नोट्स दूसरे को लाभ पहुंचाए जरूरी नहीं है। कई बार दूसरों के नोट्स त्रुटिपूर्ण होते हैं जिसे पढ़कर हम अपना ही नुकसान करते हैं। आवश्यक है कि हमें अपनी जरूरतों के हिसाब से अपना खुद का नोट्स बनाएं।

विषय के रिवीजन पर ध्यान दें

परीक्षा की तैयारी करते समय इस बात का ध्यान रखें कि जिन टॉपिक्स को एक बार पढ़ चुके है उन्हें दोहराते रहे। ऐसा नहीं है कि एक बार पढ़ने के बाद सारी चीजें वैसे ही याद रह जाती है। समय के साथ बहुत सी चीजें हम भूलते जाते हैं जिसके लिए रिवीजन बहुत जरूरी होता है।

कमजोर टॉपिक्स पर विशेष ध्यान दें।

कई बार ऐसा होता है क्या हम कुछ यूनिट्स को अधिक तथा कुछ को कम समय दे पाते हैं। कुछ टॉपिक्स को पढ़ना अच्छा लगता है तथा कुछ टॉपिक्स बोरिंग होते हैं। जिससे हम उन्हीं टॉपिक्स को ज्यादा पढ़ते हैं जो हमें पसंद आते हैं। पर यह नहीं भूलना चाहिए कि परीक्षा में सभी टॉपिक से लगभग बराबर प्रश्न पूछे जाते हैं। अतः ऐसे टॉपिक जो हमें नहीं पसंद है उसे भी योजनाबद्ध तरीके से पढ़ना चाहिए।

पिछले सालों के प्रश्नपत्रों को हल करें ।

UGC NET Exam में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए आवश्यक है कि पिछले सालों के प्रश्न पत्रों को अच्छे से पढ़े। इससे प्रश्न पत्र का प्रारूप समझने में मदद मिलती है। इसके साथ ही बहुत से प्रश्न पिछले सालों के प्रश्न पत्र से आते हैं जो अच्छे अंक प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बाजार में विभिन्न पब्लिकेशन के बहुत सी पुस्तके उपलब्ध हैं जिसमें पिछले 10 सालों के प्रश्न पत्रों का हल दिया गया है। कुछ पुस्तकों में प्रश्नों से जुड़े तथ्यों का वर्णन भी दिया गया रहता है।

समय का प्रबंधन करें ।

यूजीसी नेट परीक्षा के लिए समय का प्रतिबंध होता है। दिए हुए समय में परीक्षा पूर्ण करनी होती है। इसके लिए आवश्यक है कि पहले से समय के प्रबंधन का ध्यान रखे। और कम से कम समय में प्रश्नों को हल करने की कोशिश करें। इसके लिये मॉकटेस्ट की मदद ले।

गुणवत्ता बनाए रखें।

परीक्षा की तैयारी करते समय अच्छी किताबें पढ़े। जिससे गलतियां होने की संभावना कम हो। इसके लिए NCERT पर आधारित किताबों को पढ़ना उचित है जिसमें गुणवत्तापूर्ण सामग्री दी गई हो।

शॉर्टकट के चक्कर में ना पड़े।

UGC NET Exam का उद्देश्य विश्वविद्यालय तथा कॉलेज स्तर पर अध्यापकों के लिए पात्रता का निर्धारण करना है। जिसके लिए आवश्यक है कि विद्यार्थी के पास विषय से संबंधित पर्याप्त ज्ञान हो। अतः एग्जाम की तैयारी करते समय शॉर्टकट के चक्कर में ना पड़े। इसके लिए टेक्स्ट बुक की सहायता से अध्ययन करें। विषय का पूर्ण ज्ञान ही परीक्षा में अच्छे मार्क्स दिलाने में मदद कर सकता है।

अन्यथा प्रेशर न लें ।

परीक्षा का दबाव लगभग सभी लोगो पर होता है। अतः जरूरी है कि हम अपनी तैयारी अच्छे से करें। विषय का ज्ञान रहने पर यह दबाव कम होता जाता है। जैसे-जैसे परीक्षा नजदीक आती जाती है यह दबाव बढ़ता जाता है। अगर तैयारी अच्छी रहे तो दबाव बहुत हद तक कम हो जाता है। परीक्षा देते समय हमें कभी भी अन्यथा प्रेशर नहीं लेना चाहिए। इसके लिए मन और मस्तिष्क को शांत रखकर प्रश्नों को पढ़ना चाहिए। जो प्रश्न अच्छे से तैयार हो उनको पहले हल करना चाहिए तथा अन्य को अंत में करे। दोनों विषयों के एक साथ होने से अब बहुत हद तक समय की बचत हो जाती है।

आत्मविश्वास बनाए रखें।

जब अपने ठान ही लिया है कि यूजीसी नेट एग्जाम पास करना है तो खुद पर भरोसा रखे और मेहनत करें। बहुत से लोग हैं जो बार-बार अधूरी तैयारी के साथ यूजीसी नेट का एग्जाम देते हैं तथा असफल रहते हैं। ये लोग अपने आसपास के लोगों में एग्जाम से संबंधित नकरात्मकता फैलाते हैं। ऐसे लोगों से उचित दूरी बनाए रखें।

उम्मीद करता हूं कि मेरे द्वारा दी हुई जानकारी आपको पसंद आई होगी। आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे शेयर करना ना भूलें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here