विश्व की स्थानीय पवनें : List of Local Winds

स्थानीय पवन – Sthaniya pawan :- किसी स्थान विशेष में चलने वाली हवा को स्थानीय पवन (local winds) कहते है। इसका प्रभाव एक निश्चित सीमा क्षेत्र तक रहता है। ये मौसम के साथ आते जाते है। इनका विस्तार क्षोभ मंडल तक सीमित रहता है। किन्तु ये हवाएं गर्म, शुष्क, आद्र, बर्फ से भरी या धूल से भरी हो सकती है। इनमे कुछ से लाभकारी तथा कुछ पवनों से हानिकारक प्रभाव पड़ता है।

विषय-सूची छुपाएं

गर्म स्थानीय पवनें – Hot local winds

(1) फोन (Foegn)

यह गर्म और शुष्क हवा है जो दक्षिणी आल्प्स के सहारे ऊपर उठती है। ये वर्षा होने के पश्चात आल्पस पर्वत के उतरी ढाल से नीचे उतरती है। इसका तापमान 15 से 20 डिग्री सेल्सियस तक होता है। इस हवा से मैदानी भागों की बर्फ पिघल जाती है। जिससे पशुओं के लिए चारागाह बर्फ रहित हो जाता है। फोन पवन से अंगूरों को पकने में मदद मिलती है।

(2) चिनूक (Chinook)

उत्तरी अमेरिका के रॉकी पर्वत श्रेणियों के पूर्वी ढाल पर प्रवाहित होने वाली पवन को चिनूक कहते हैं। चिनूक शब्द का अर्थ है हिम भक्षी। यह पवन रॉकी पर्वतमाला के पूर्वी भाग में स्थित चरागाहों को हिम के प्रभाव से मुक्त रखता हैं।

(3) हरमट्टम (Harmatten)

अफ्रीका महादेश के सहारा मरुस्थल में उत्तर पूर्व से दक्षिण पूर्व दिशा में चलने वाली गर्म तथा धूल भारी हवा को हरमट्टम कहते है। यह मुख्य रूप से गिन्नी तट पर चलती है। इस हवा के द्वारा वहां के निवासियों को आद्र मौसम से राहत मिलती है। इसीलिए इस हवा को डॉक्टर पवन भी कहते हैं। मरुस्थलीय भाग में काफ़िला के लिए यह हवा काफी कष्टकारी होती है।

(4) लू (Loo)

लू मुख्य रूप से दक्षिण एशिया में चलने वाली गर्म और शुष्क हवा है। भारत और पाकिस्तान के मैदानों में मई से जून तक इसका प्रभाव बना रहता है। इस मौसम में यह हवा एक प्रकोप की तरह मानी जाती है।

(5) बर्ग (Burg)

ये हरमट्टम के समान ही गर्म और शुष्क हवा है। यह दक्षिण अफ्रीका के आंतरिक पठारी भागों से तटवर्ती क्षेत्र की ओर चलती है।

(6) सिमुम (Simum)

यह हवा सहारा के मरुस्थल में चलती है। इसकी प्रकृति शुष्क और शुष्क प्रकार की है। इस हवा में बालू की मात्रा होती है जिससे दृश्यता काफी कम हो जाती है।

(7) काराबुरान (Karaburan)

यह धूल भरी हवा मध्य एशिया के तारिम बेसीन में चलती है। मंगोलिया तथा चीन के लोएस के मैदान का निर्माण इसी हवा के द्वारा हुआ है ।

(8) सिरोक्को (Siracco)

यह मुख्य रूप से इटली में प्रवाहित होने वाली उष्ण हवा है। यह सहारा मरुस्थल से यूरोप की तरफ चलती है। इसमें बालू के छोटे-छोटे गण मौजूद होते हैं जो वर्षा जल में मिल कर उसे लाल रंग की तरह बदल देते हैं। इसी कारण इस वर्षा को इटली में रक्त वर्षा कहते हैं।

(9) सान्ता अना (Santa ana)

यह हवा संयुक्त राज्य अमरीका के कैलिफोर्निया की सान्ता अना घाटी में चलती है। यह स्वभाव से गर्म एवं शुष्क प्रकार की होती है।

(10) नारवेस्टर (Narwester)

नारवेस्टर न्यूजीलैण्ड़ के मैदानों में प्रवाहित होने वाली गर्म, शुष्क एवं झोंकेवाली पवन है।

(11) यामो (Yamo)

ये पवन जापान में चलती है। ये गर्म एवं शुष्क हवा हवा है।

(12) ट्रैमोण्टेन (Tramontane)

मध्य यूरोप मुख्य रूप से इटली में चलने वाली गर्म हवा है।

(13) जोण्डा (Zonda)

ये हवा एण्डीज पर्वत के पूर्वी ढलानों पर अर्जनटीना में चलती है। ये गर्म एवं शुष्क हवा चिनुक की तरह विशेषता रखती है।

(14) हबूब (Haboob)

हबूब दक्षिणी सहारा के सुडान में चलने वाली रेतभरी गर्म तथा नम हवा है। यह ग्रीष्मकाल के प्रारम्भ के साथ प्रकट होती है।

(15) लेस्ट (Lest)

लेस्ट हवा मडीरा एवं मोरक्को में चलने वाली गर्म तथा शुष्क हवा है। जो अपने साथ काफी मात्रा में धूल लेकर चलती है।

(16) खमसिन (Khamsin )

ये पवन उत्तरी अफ्रीका मुख्य रूप से सहारा तथा अरब के मरुस्थल में चलती है। ये पवन भी गर्म तथा शुष्क होती है। जो धूल से भरी होती है।

(17) ब्रिकफील्डर (Brick fielder)

आस्ट्रेलिया महादेश के विक्टोरिया प्रांत में चलने वाली धूलभरी हवा है जो अति गर्म और शुष्क होती है।

(18) शामल (Shamal)

ये हवा फारस की खाडी एवं मेसोपोटामिया में चलती है। ये भी स्वभाव से गर्म, शुष्क एवं धूलभरी स्थानीय हवा (local winds) है।

(19) गिबली (Gibli)

लीबिया में चलने वाली गर्म, शुष्क एवं धूलभरी रेतीली हवा है।

(20) लाईवेंटर (Levente)

भूमध्यसागरीय क्षेत्र में चलने वाली उष्ण आद्र हवा को स्पेन और फ्रांस में लेवेंट कहते है।

(21) ब्लैक रोलर (Black roller)

उत्तरी अमेरिका के विशाल मैदान में चलने वाली गर्म और धूल भरी हवा है।

(22) सामल (Shamal)

अरब ईरान इराक के मरुस्थल में प्रवाहित होने वाली गर्व क्यों शुष्क हवा है।

ठंडी स्थानीय पवनें – Cold local winds

(1) मिस्ट्रल (Mistral)

फ्रांस में आल्पस पर्वत से भूमध्य भूमध्य सागर की ओर प्रवाहित होने वाली हवा है। ये शुष्क और शीत हवा है।

(2) बोरा (Bora)

मध्य रूप में उत्तर पूर्वी पर्वतों से उतरी एड्रियाटिक सागर की ओर प्रवाहित होने वाली शीतल शुष्क पवन को बोरा कहते हैं। यह पवन मध्य यूरोप के उच्च दाब क्षेत्र से भूमध्य सागर में विद्यमान निम्न दाब के क्षेत्र की तरह प्रवाहित होती है।

(3) ब्लिजार्ड (Blizzard)

यह एक ध्रुवीय पवन है जो साइबेरिया और अमेरिका के उत्तरी भाग में प्रवाहित होती है।

(4) बुरान (Buran)

रूसा मध्यवर्ती एशिया में बहने वाली बर्फीली हवा है।

(5) नार्थर (Narther)

अमेरिका के टेक्सास की खाड़ी के तटीय क्षेत्रों में रहने वाली बर्फीली पवन है। यह अत्यंत ही ठंडी शुष्क हवा है।

(6) पुर्गा (Purga)

अलास्का तथा साइबेरिया के टुण्ड्रा प्रदेश में चलने वाली प्रचंड बर्फीली तूफान है जो देश के उत्तर पश्चिम से आते है। इन हवाओ को पुर्गा कहते है।

(7) फ्रियांजेम (Friagem)

ब्राजील के उष्ण कटिबन्धीय कम्पोज़ क्षेत्र में चलने वाली शीत लहर को फ्रियांजेम कहते है। यह मई जून में प्रवाहित होती है तथा क्षेत्र का तापमान 10℃ तक कम कर देती है।

(8) पापाग्यो (Papagayao)

मैक्सिको के तट पर चलने वाली सर्द हवाओं को पापाग्यो कहते है। ये हवा शुष्क होती है तथा तीव्र वेग से चलती है।

(9) जोरन (Joran)

यह हवा ज़ुरा पर्वत से जेनेवा झील तक बहती है यह मुख्य रूप से स्विजरलैंड में बहती है।

(10) वेन्डावेल्स (Vendavales)

स्पेन के पूर्वी तट पर चलने वाली ठंडी हवा को वेन्डावेल्स कहते है।

(11) टेरल (Terral)

पेरू और चिली के पश्चिमी ततो चलने वाली हवाओ को टेरल कहते है।

(12) पेम्पेरो (Pampero)

अर्जेन्टीना में चलने वाली सर्द हवाओ को पेम्पेरोकहते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here