UGC NET Exam क्या है ? पात्रता, आयु सीमा और छूट

UGC NET Exam क्या है ?

UGC NET Exam राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (NET) NTA नामक संस्था प्रति वर्ष दो बार आयोजित करती है। इसके आधार पर विश्वविद्यालय और कॉलेजों में Assistant Professor के लिए पात्रता का निर्धारण और JRF के लिए चयन होता है।

UGC NET Exam क्या है पात्रता, आयु सीमा और छूट

JRF क्या है ?

JRF के लिए पास हुए उम्मीदवार अपनी स्नातकोत्तर उपाधि के विषय में रिसर्च करने के पात्र होते है। साथ ही इन्हें स्कॉलरशिप दी जाती है। ये असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए भी पात्र समझे जाते हैं।

जेआरएफ अवार्ड का पत्र जारी करने की तिथि से 3 वर्ष की अवधि तक वैध रहता है। उम्मीदवारों को 3 वर्षों के भीतर रिसर्च के लिए पंजीकरण कराना होता है। अगर कोई उम्मीदवार इन 3 वर्षों के भीतर पंजीकरण नहीं करा पाता है तो उसका जेआरएफ अवार्ड की वैधता समाप्त हो जाती है।

JRF की स्कॉलरशिप प्रदान किया जाना नेट में उनके अच्छे मार्क्स तथा योग्यता पर निर्भर करता है। किन्तु केवल असिस्टेट प्रोफेसर के लिए अर्हता प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को स्कॉलरशिप नहीं दिया जाता है। नेट परीक्षा में बैठने वाले सभी उममीदवारों को आवेदन पत्र में इस बात का उल्लेख स्पष्ट रूप से करना होता है कि वे JRF और assistant professor दोनों के लिए या केवल Assistant Professor के लिए आवेदन कर रहे हैं।

अनुसूचित जातियों (अजा)/अनुसूचित जनजातियों (अजजा)/दृष्टि विकलांग दृ.वि./शारीरिक विकलांग (शा. वि) उम्मीदवारों को आयोग द्वारा विशेष छूट दिया जाता है।

UGC NET Exam के लिए पात्रता की शर्ते

(i) NET Exam में केवल वही उम्मीदवार बैठने के पात्र होते है, जिन्होने यू.जी सी के द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त कर ली है या प्राप्त करने की प्रक्रिया में है।

(ii) UGC NET Exam के लिए मास्टर डिग्री या समकम परीक्षा में कम-से-कम 55% अंक लाना अनिवार्य है। अजा/ अजजा/शावि/दृवि वर्ग के उम्मीदवारों के मामले में 50% अंक लाना अनिवार्य है। इन उम्मीदवारों को नेट परीक्षा की तिथि से एक वर्ष के भीतर अपनी स्नातकोत्तर परीक्षा की अंक सूची डिग्री प्राप्त करना होता है अन्यथा उन्हें अयोग्य समझा जायेगा।

(iii) नेट परीक्षा में बैठने के लिए ऐसे पीएचडी डिग्रीधारी उम्मीदवारों को 5% की छूट (अर्थात् 55% से 50%) दिया जाता है, जिनकी डिग्री स्तर की परीक्षा 19 सितम्बर, 1991 तक पूरी हो गई थी।

(iv) उम्मीदवारों को केवल स्नातकोत्तर उपाधि के विषय में परीक्षा देने की सलाह दी जाती है। ऐसे उम्मीदवार जिनका स्नातकोत्तर उपाधि का विषय विषयों की सूची में नहीं आया है। वे स्नातकोत्तर उपाधि के विषय से सम्बद्ध विषय में परीक्षा दे सकते है।

UGC NET Exam की आयु सीमा और छूट

(i) जेआरएफ के लिए 30 वर्ष की आयु सीमा निर्धारित की गई है। अजा/अजजा/अपिव/शापि/दृवि वर्गों के उम्मीदवारों तथा महिला उम्मीदवारों को 5 वर्ष तक की छूट दी जाती है।
एल एल. एम. डिग्रीधारी उम्मीदवारों को 3 वर्ष की छूट दी जाती है। किसी भी आधार पर आयु सीमा में छूट पांच वर्षों से अधिक नहीं दी जाएगी।

(ii) असिस्टेंट प्रोफेसर की पोस्ट के लिए कोई ऊपरी आयु सीमा निर्धारित नहीं है।

(iii) जिन उम्मीदवारों ने अपने सम्बन्धित विषय में पीएच. डी. डिग्री प्राप्त कर ली है उनको स्नातक तथा स्नातकोत्तर कक्षाओं को पढ़ाने हेतु नेट से छूट प्राप्त है। जिन उम्मीदवारों ने अपने विषय में एम. फिल. डिग्री प्राप्त कर ली है उनको भी स्नातक कक्षाओं को पढ़ाने हेतु नेट मे छूट प्राप्त है।

UGC NET Exam की योजना

इस परीक्षा में 2 प्रश्न-पत्र होते है।
प्रश्न पत्र-I सामान्य प्रकार का होता है जिसका उद्देश्य उम्मीदवार की अध्यापन/ अनुसन्धान अभिरुचि का मूल्यांकन करना है। यह मुख्य रूप से उम्मीदवारों की योग्यता, परिज्ञान तथा भिन्न विचारधारा की जांच करने के लिए है। इसमें कुल प्रश्नों की संख्या 50 होती है।

प्रश्न-पत्र-II में उम्मीदवारों द्वारा चुने गए विषय से प्रश्न होते है। इसमें कुल प्रश्नों की संख्या 100 होती है। प्रश्न पत्र में किसी भी तरह का नकारात्मक अंकन नहीं होता है।

UGC NET Exam का पाठ्यविवरण

सभी प्रश्न-पत्रों के लिए पाठ्यविवरण सम्बन्धी आवश्यक सूचना तत्सम्बन्धी परीक्षा केन्द्रों द्वारा प्रवेश पत्र के साथ दी जाती है। पाट्यविवरण यू जी.सी. वेबसाइट पर https://www.ugcnetonline.in/syllabus-new.php और सभी भारतीय विश्वविद्यालयों के पुस्तकालयों में उपलब्ध है। कम्प्यूटर विज्ञान एवं अनुप्रयोग, इलेक्ट्रॉनिक विज्ञान और पर्यावरण विज्ञान के मामले में प्रश्न पत्र फेवल अंग्रेजी में होते है। अंग्रेजी तथा इसके हिन्दी अनुवाद में किसी भी तरह की विसंगति के पाए जाने पर अंग्रेजी में पूछे गए प्रश्न सही माने जाएंगे।

2 COMMENTS

  1. अपने बहुत ही अच्छी जानकारी साँझा की है आपके इस पोस्ट को पढ़कर बहुत अच्छा लगा और इस ब्लॉग की यह खास बात है कि जो भी लिखा जाता है वो बहुत ही understandable होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here